Visitor's Counter

You Tube

Saturday, May 25, 2019

१. आवाज सुनने के लिए कृपया ऊपर प्लेयर विंडो में प्ले बटन दबाईये और थोड़ा इंतज़ार करें आवाज़ सुनाई देने लगेगी।
२. केवल क्रोम ब्राउज़र में खोलें।  यदि आवाज़  नहीं आ रही है तो  रिफ्रेश करें। 
३. इंटरनेट तेज गति का लें या 4G मोबाइल नेट पर सुनें। 

1.For joining please click on play button on Player window  top left side.
2. Please wait for few second for audio stream to load.
3. If transmission is interrupting or not heard then refresh.
4. Use Chrome web browser.

Friday, May 24, 2019

रविवार, 26 मई 2019 को भारत से सामूहिक ऑनलाईन ध्यान कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए हार्दिक निमंत्रण

"मेडिटेशन ध्यान है। जब आप ध्यान करते हैं, तो सिर्फ ध्यान और ध्यान करें, कुछ भी न मांगें। ध्यान स्वयं आपको वह साधन देता है जो गुरु की इस महान शक्ति को वहन कर सकता है।"
 ~ परम पूज्य श्री माताजी
15-02-2004

विश्व के सभी सहज योगी भाईयों और बहनों, आप सभी को हृदय से निमंत्रण और सादर अनुरोध है कि भारत से विश्व ऑनलाइन सामूहिक ध्यान में अवश्य सम्मिलित हों
रविवार, 26 मई 2019, शाम 6 से 9 बजे, भारतीय समय।

इस कार्यक्रम में जुड़ने के लिए लिंक :https://atyourlotusfeetmother.blogspot.com

विदेशी राज्यों का समय जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें: https://timeanddate.com/s/3vee

जय श्री माताजी!

Invitation for joining online Meditation from India, on Sunday, 26th May 2019

"Dhyana is meditation. When you meditate, just meditate and meditate, do not ask for anything. Meditation itself gives you that instrument which can bear this great power of the guru."
~H.H. Shri Mataji
15-02-2004

Dear all the Sahaja Yogis of the world, 
Everyone is warmly invited and welcome to join for collectively meditating online on Sunday, 26th May 2019, 6 pm to 9 pm, India Time.

Link for joining world online Meditation from India:https://atyourlotusfeetmother.blogspot.com

Please click on this link to know timing of your country/cityhttps://timeanddate.com/s/3vee

Jai Shri Mataji!

Saturday, April 20, 2019


सोनीपत, हरियाणा में सामूहिक ध्यान कार्यक्रम के लिए हार्दिक निमंत्रण

"निर्विचारिता प्राप्त करने के लिए जिसका अर्थ है विचार का पूर्ण अभाव हमें पूर्ण आत्मसमर्पण करना होगा। जब आपकी विचार प्रक्रिया बंद हो जाती है तो आप मध्य में आ जाते हैं। मध्य में होने के कारण आप निर्विचार हो जाते हैं, जो परिणामस्वरूप, आपको परमात्मा के साथ एक बना देता है। और जब ऐसा होता है, वह आपका सभी बोझ खुद पर ले लेते हैं, वह आपकी छोटी-छोटी जरूरतों का भी ख्याल रखते हैं।"
 ~ परम् पूज्य श्री माताजी, राहुरी,  31 दिसंबर 1980

जय श्री माताजी!
परम पूज्य श्री माताजी की असीम कृपा से सोनीपत, हरियाणा में एक सामूहिक ध्यान कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। सभी को इसमें सम्मिलित होने के लिए हृदय से आमंत्रित किया जा रहा है।

दिनांक: रविवार, 21 अप्रैल 2019

कार्यक्रम :
सुबह 9 से 9.30 बजे, चाय
सुबह 10 से दोपहर 1 बजे, ध्यान
दोपहर 1 से 3:30 बजे, दोपहर का भोजन और विश्राम
3.30 से 6 बजे, ध्यान
शाम 6 बजे, चाय

ऑनलाइन ट्रांसमिशन लिंक:
https://atyourlotusfeetmother.blogspot.com/

स्थान: चिंतपूर्णी माता मंदिर का हॉल, सेक्टर 14, सोनीपत, हरियाणा।

गूगल स्थान मार्ग दर्शक लिंक:
https://maps.app.goo.gl/7EQP7

Saturday, March 23, 2019

1.For joining please click on play button on Player window  top left side.

2. Please wait for few second for audio stream to load.

3. If transmission is interrupting or not heard then referesh.

4. Use Chrome web browser.

१. आवाज सुनने के लिए कृपया ऊपर प्लेयर विंडो में प्ले बटन दबाईये और थोड़ा इंतज़ार करें आवाज़ सुनाई देने लगेगी।
२. केवल क्रोम ब्राउज़र में खोलें।  यदि आवाज़  नहीं आ रही है तो  रिफ्रेश करें। 
३. इंटरनेट तेज गति का लें या 4G मोबाइल नेट पर सुनें। 

Thursday, March 21, 2019



परम् पूज्य श्री माताजी के शुभ मंगल अवतरण दिवस की हार्दिक बधाई

ऑनलाइन ध्यान कार्यक्रम के लिए निमंत्रण

"निर्विचारिता में जाते ही साथ आपकी जो कुछ भी संजोने वाली शक्तियां हैं आनंद देने वाली शक्तियां हैं प्रेम देने वाली शक्तियां हैं वो सब की सब समेट कर के आपके अंदर आ जाती हैं।"
~ परम् पूज्य श्री माताजी
(16-10-1988, नवरात्री पूजा, पुणे)

प्रिय विश्व के सभी सहज योगी,


यह समय परम् पूज्य श्री माताजी के अवतरित होने के उत्सव और आनंद के पर्व का है साथ ही होली के त्योहार, श्री कृष्ण की सामूहिकता के आनंद की रास लीला का भी शुभ अवसर है।
यह एक ऐसा अवसर है जो परम चैतन्य के साथ हमारी आत्मा में गहरी एकाकारिता के आनंद को आत्मसात करने लिए है।

सभी को हृदय से आमंत्रित किया जाता है और अनुरोध किया जाता है कि भारत से विश्व ऑनलाइन सामूहिक ध्यान में अवश्य सम्मिलित हों रविवार, 24 मार्च 2019, शाम 4 से 7 बजे, भारतीय समय।

इस कार्यक्रम में जुड़ने के लिए लिंक : https://atyourlotusfeetmother.blogspot.com

कृपया अपने देश / शहर का समय जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें: https: //timeanddate.com/s/3tn3
जय श्री माताजी!

Good wishes to everyone on the most auspicius occasion of incarnation day of H.H. Shri Mataji


Invitation for online Meditation

"As soon as you go into nirvicharita, whatever there are your powers of assimilation, the powers of giving joy, powers of giving love, they all come together and come inside you."
~H.H. Shri Mataji
(16-10-1988, Navratri Puja, Pune)


Dearest all the Sahaja Yogis of the world,


This is the joyous time of celebrating the incarnation of H.H.Shri Mataji and also the festival of Holi, Shri Krishna's Raas leela of enjoyment of collectivity.

This is an occasion to soak ourselves in the bliss of absolute oneness with Param Chaitanya deep in our spirits.

Everyone is warmly invited and requested to please join world online collective meditation from India on Sunday, 24th March 2019, 4 pm to 7 pm, India Time.


Link for joining world online Meditation from India: https://atyourlotusfeetmother.blogspot.com

Please click on this link to know timing of your country/city:https://timeanddate.com/s/3tn3

Jai Shri Mataji!


Sunday, February 3, 2019


जय श्री माताजी

आमंत्रण 

..लेकिन निर्विचार भी तुम्हारी माँ के आशीर्वाद को व्यक्त करने का एक तरीका है। जब वह आपको आशीर्वाद देना चाहती है, तो देखें कि आपने पत्र लिखा है, वो खुश थी बस आपको आशीर्वाद देने के लिए आप "निर्विचार" हो गए। यह आशीर्वाद है।  उस तरह से आप ... वह कृपा है, जो कि आप आपकी माँ के माध्यम से आप निर्विचार हो जाते हैं। उसको जानना है। यदि आप उन चीजों को करते हैं जो मैं आपको बताती हूं, मैं महसूस करती हूं, मैं आपको बहुत आशीर्वाद देती हूं। क्योंकि वे आपके "कल्याण"  के लिए, आपके "मंगल" के लिए हैं इसीलिए आप धन्य हैं और इसीलिए आप "निर्विचार" महसूस करते हैं क्योंकि मैं स्वयं निर्विचार हूँ ..."

~परम पूज्य श्री माताजी
(14 मार्च 1979, दिल्ली)

परम पूज्य श्री माताजी के पावन श्री कमल चरणों में नागपुर सहज परिवार द्वारा आयोजित ध्यान के सामुहिक कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए आप सभी को हार्दिक आमंत्रण है। कृपया आप इसमें अवश्य पधारें या ऑनलाइन प्रसारण के माध्यम से जुड़ें।

कार्यक्रम विवरण

तिथि: रविवार, 10 फरवरी 2019
समय:  10 बजे प्रातः से 
स्थान:  सहज योग ध्यान केंद्र, मुंडले सभागृह, समीप दीक्षा भूमि, साउथ अंबाजारी रोड, नागपुर, महाराष्ट्र।

इस कार्यक्रम के ऑनलाइन प्रसारण से जुड़ने के लिए लिंक: https://atyourlotusfeetmother.blogspot.com

पहुंचने के लिए गुगल मेप मार्गदर्शक लिंक:
Sahaj Yoga Centre
MA/15/1, S Ambazari Rd, Vasant Nagar, Nagpur, Maharashtra 440020

Tuesday, January 15, 2019



आमंत्रण 
श्री माताजी! आपके श्री चरणों में नत मस्तक सादर प्रणाम! 
परम पूज्य श्री माताजी की असीम कृपा से सभी सहज योगियों को हार्दिक आमंत्रण है कृपया फरीदाबाद, हरियाणा सामूहिकता द्वारा आयोजित सामूहिक ध्यान कार्यक्रम में सम्मिलित होकर या ऑनलाइन जुड़ कर परम पूज्य श्री आदि शक्ति श्री माताजी की सम्पूर्ण अभिभूत करने वाली प्रेम की धारा का आनंद प्राप्त करें।

तिथि: रविवार, 20 जनवरी 2019 
समय: 10 बजे प्रातः से 1 बजे दोपहर तक 
महाप्रसाद: 1:30 बजे दोपहर स्थान: सहज मंदिर, नाचोली गांव, ग्रेटर फरीदाबाद 

इस कार्यक्रम के ऑनलाइन प्रसारण से जुड़ने के लिए लिंक: https://atyourlotusfeetmother.blogspot.com

पहुंचने के लिए गुगल मेप मार्गदर्शक लिंक: SAHAJAYOGA MEDITATION CENTRE Unnamed Road, Neharpar Faridabad, Nacholi, Haryana 121002 078276 18262 https://maps.app.goo.gl/5Y3Wf 

श्री माताजी! आप हमारे सहस्त्रार के स्वर्ण सिंहासन पर विराज कर इसे सुशोभित करती हैं और हमारे सूक्ष्म तंत्र में उपस्थित सभी देवी देवताओं की आकाशगंगा पर राज्य करती हैं। हमारा सहस्त्रार आपका स्थान है और हम यहां अपने चित्त से आपकी पूजा करते हैं। आपने हमें "आपका चित्त कहाँ है?" का सबसे शक्तिशाली मंत्र दिया है हमारे बाह्य की ओर भटकने वाले चित्त को शुद्ध कर, आंतरिक हो कर आपके श्री चरण कमलों में समा कर, निर्विचारिता की स्थिति प्राप्ति का आनंद व आपके सर्वशक्तिमान आशीर्वाद का अमृत फल पाने के योग्य बन पाने के लिए। कृपया हमें आशीर्वाद दें कि हम सदैव एक शुद्ध चित्त, स्थिर चित्त, एकाग्र चित्त, समर्पित चित्त, भक्तिपूर्ण चित्त, प्रेम पूर्ण चित्त, करुणामय चित्त, आंतरिक चित्त से आपकी हमारे सहस्त्रार की देवी के रूप में पूजा करने में समर्थ बने रहें, श्री माताजी! 

जय श्री माताजी! 

Shri Mataji! YOU sit on the golden throne of our Sahastrar and rule the galaxy of all the deities present in our subtle system. Our Sahastrar is YOUR place and we worship YOU here with our attention. YOU have given us most powerful mantra of "Where is your attention?" to cleanse our outwardly attention and bring it inward to YOUR LOTUS FEET to enjoy YOUR all mighty blessing and bliss of achieving Thoughtless Awareness state. Please bless us that we are able to always have a pure attention, a steady attention, a detached attention, a dedicated attention, a devoted attention, a loving attention, a compassionate attention, an inward attention to worship YOU as the deity of our Sahastrar, Shri Mataji! 

Jai Shri Mataji!